28.1 C
New Delhi
Tuesday, June 15, 2021

सम्प्रति सम्पूर्ण युद्धम्, भारत चिनस्य च् मध्ये ! अब आर पार की लड़ाई, भारत बनाम चीन !

Must read

१५-16 जून तः उपरांत चिनम् २९-३० अगस्तम् इदानिम् कार्यम् अकरोत् यत् स्वयम् तेन अविश्वासनीय कथाय पर्याप्तम् अस्ति ! चिनम् पैंगोंग सो सरोवरेण बलात् प्रवेशस्य प्रयत्नम् अकरोत् स्म ! तु न केवलं तेन उद्देश्य सिद्धिम् न प्राप्यत् अपितु एस एस एफ सामरिक शिखरम् एकम् स्थानम् स्व अधिगृह्यते ! चिन इति प्रयत्ने आसीत् तत सः सरोवरस्य दक्षिण तटे कृष्ण शिखरम् स्व अधिगृह्यते ! सम्प्रति द्वयो देशयो मध्य सैन्य स्तरस्य त्रयदा वार्ताम् अभवत् !

15-16 जून के बाद चीन ने 29-30 अगस्त को ऐसी हरकत की जो खुद उसे अविश्वसनीय करार देने के लिए पर्याप्त है ! चीन ने पैंगोंग सो लेक के जरिए घुसपैठ की कोशिश की थी ! लेकिन न केवल उसे नाकामी मिली बल्कि एस एस एफ ने स्ट्रैटिजिक हाइट वाले एक पोस्ट को अपने कब्जे में ले लिया ! चीन इस फिराक में था कि वो लेक के दक्षिणी किनारे पर ब्लैक टॉप को अपने कब्जे में ले ले ! अब दोनों देशों के बीच सैन्य स्तर की तीसरी बार बात हुई !

चिनी सेनास्य युवकम् गुप्तेन पैंगोंग सरोवरस्य मार्गम् अचिनोति एल ए सी च् दक्षिणी तटे आगमनस्य प्रयत्नम् करिष्यते ! इति वार्तास्य सूचनां यथैव भरतीय पक्षम् प्राप्यत् बहु संख्येशु सैनिकानि यथास्थाने आमांत्रित् जल मध्येव च् द्वंदम् प्रारम्भयते ! इति अवसरस्य लाभम् गृहीतः एस एस एफ आरक्षकानि कृष्ण शिखरे आरोहणत् त्रिवर्णम् च् आरोहयत् !

चीनी सेना के जवान चुपके से पैंगोंग लेक के रास्ते को चुना और एल ए सी के दक्षिणी किनारे पर आने की कोशिश करने लगे ! इस बात की भनक जैसे ही भारतीय पक्ष को लगी बड़ी संख्या में सैनिकों को मौके पर बुलाया गया और पानी के अंदर ही गुत्थगुत्था शुरू हो गई ! इस मौके का लाभ उठाते हुए एस एस एफ के कमांडो ब्लैक टॉप पर चढ़ गए और तिरंगे को फहरा दिया !

चिनी सेना अत्र अचम्भितम् आसीत् तर्हि बीजिंगे जिनपिंगस्य सलाहकारानां पीड़ाम् जायते ! वस्तुतः कृष्ण शिखरे अधिगृहतेन भारतीय सेनाम् सामरिक लाभम् प्राप्यते ! चिनेन पैंगोंग सोसि दक्षिणी तटीय प्रान्तरे यथास्थिति परिवर्तस्य नव प्रयत्नस्य अनुरूपम् रक्षामंत्री राजनाथ सिंह: भौमवासरम् पूर्वी लद्दाखे स्थितिस्य व्यापकं समीक्षाम् अकरोत् !

चीनी सेना इधर अवाक थी तो बीजिंग में जिनपिंग के सलाहाकारों की पेशानी पर बल पड़ गया ! दरअसल ब्लैक टॉप पर कब्जे से भारतीय फौज को सामरिक लाभ मिल चुका है ! चीन द्वारा पैंगोंग सो के दक्षिणी तटीय इलाके में यथास्थिति बदलने के ताजा प्रयास के मद्देनजर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को पूर्वी लद्दाख में स्थिति की व्यापक समीक्षा की !

आधिकारिक सूत्राणि अकथयत्, करीबम् द्वय घटकम् सभायां इयम् निर्णयते तत भारतीय सेना वास्तविक नियंत्रण रेखेन (एल ए सी) सह सर्वम् संवेदनयुक्तम् क्षेत्रेषु स्व आक्रामक रूपम् निरन्तर्ष्यते यत् तत चिनस्य कश्चितापि दुस्साहसेन प्रभावी प्रकारेण अनिर्व्ह्यते ! भारतीय सेना अतिरिक्त सैनिकै: सहैव लोहरथानां नियुक्तिम् कृत्वा पैंगोंग सोसि दक्षिणी तटीय क्षेत्रस्य आर्श्व पार्श्व स्व उपस्थितिम् तीक्ष्ण च् अकरोत् !

आधिकारिक सूत्रों ने कहा, लगभग दो घंटे चली बैठक में यह निर्णय लिया गया कि भारतीय सेना वास्तविक नियंत्रण रेखा (एल ए सी) के साथ सभी संवेदनशील क्षेत्रों में अपना आक्रामक रुख जारी रखेगी ताकि चीन के किसी भी दुस्साहस से प्रभावी ढंग से निपटा जा सके ! भारतीय सेना ने अतिरिक्त सैनिकों के साथ ही टैंकों की तैनाती करके पैंगोंग सो के दक्षिणी तटीय क्षेत्र के आसपास अपनी उपस्थिति को और मजबूत किया है !

विदेश मंत्रालयस्य प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव: भौमवासरम् अकथयत् तत चिनी पक्षम् तम् वार्तानां न पश्यस्य यते प्रथमे सहमतिम् अबनत् स्म २९ अगस्तस्य ३० अगस्तस्य वा अति रात्रिम् उच्चाटनम् सैन्य कार्रवाहेन दक्षिणी तटीय प्रान्तरे यथास्थितिम् परिवर्तितस्य प्रयत्नम् अकरोत् !

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने मंगलवार को कहा कि चीनी पक्ष ने उन बातों की अनदेखी की जिन पर पहले सहमति बनी थी और 29 अगस्त एवं 30 अगस्त की देर रात को उकसावे वाली सैन्य कार्रवाई के जरिये दक्षिणी तटीय इलाकों में यथास्थिति को बदलने का प्रयास किया !

चिनी पक्षम् सोमवासरम् एकदा पुनः उच्चाटनम् कार्यवाहिस्य यत् स्थिति सामान्य प्रयत्नम् कृताय अधिकारिस्य परिचर्चाम् कुर्वन्ति स्म ! तम् काले करोतु रक्षात्मक कार्यवाहिस्य कारणम् भारतीय पक्ष एक प्रत्येन यथास्थिति परिवर्तितस्य प्रयत्नम् अवरोधे सफलं अभवत् !वर्षस्य प्रारम्भेन एव वास्तविक नियंत्रण रेखे चिनी पक्षस्य व्यवहारम् कार्यवाहिम् स्पष्ट रूपेण द्विपक्षीय सुलहानि एवं शिष्टाचारस्य स्पष्ट उल्लंघनम् अस्ति !

चीनी पक्ष ने सोमवार को एक बार फिर उकसावे वाली कार्रवाई की जब स्थिति सामान्य करने के लिए कमांडर चर्चा कर रहे थे ! उस समय पर की गई रक्षात्मक कार्रवाई के कारण भारतीय पक्ष एकतरफा ढंग से यथास्थिति बदलने के प्रयास को रोकने में सफल रहे ! साल की शुरुआत से ही वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीनी पक्ष का व्यवहार और कार्रवाई स्पष्ट रूप से द्विपक्षीय समझौतों एवं प्रोटोकाल का स्पष्ट उल्लंघन है !

Disclaimer The author is solely responsible for the views expressed in this article. The author carry the responsibility for citing and/or licensing of images utilized within the text. The opinions, facts and any media content in them are presented solely by the authors, and neither Trunicle.com nor its partners assume any responsibility for them. Please contact us in case of abuse at Trunicle[At]gmail.com

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article