30.5 C
New Delhi
Friday, April 23, 2021

गुपकार समूहे अमित शाहस्य तीक्ष्ण प्रहारम् तर्हि उद्विज्यते पकिस्तानप्रेमी मुफ्ती ! गुपकार अलायंस पर अमित शाह का तीखा वार तो बौखलाई पाकिस्तान प्रेमी मुफ्ती !

Must read

फोटो साभार नवभारतटाइम्स

केंद्रीय गृहमंत्री: अमित शाह: भौमवासरम् गुपकार समूहे तीक्ष्ण प्रहारम् अबदत् ! गुपकार समूहम् अपवित्रम् गठबंधनं कथ्यतः स्व ट्वीते सः अकथयत् तत कांग्रेसम् गुपकार समूहम् जम्मू-कश्मीरम् आतंक घोटालायाः च् युगे नीयतम् इच्छति !

केंद्रीय गृहमंत्री ने अमित शाह मंगलवार को गुपकार अलायंस पर तीखा हमला बोला ! गुपकार अलायंस को अपवित्र गठबंधन करार देते हुए अपने ट्वीट में उन्होंने कहा कि कांग्रेस और गुपकार गैंग जम्मू-कश्मीर को आतंक और घोटाले के युग में ले जाना चाहता है !

वयं अनुच्छेद ३७० निर्वयित्वा दलितं,स्त्रीयाणि आदिवासिनि च् यत् अधिकारम् अददात्,ते तानि अधिकाराणि गृह्यइच्छन्ति ! इत्येव कार्यस्य कारणम् जनः तानि प्रत्येक स्थानम् निरस्तम् कुर्वन्ति ! गुपकार समूह वैश्विकम् भवति !

हमने अनुच्छेद 370 हटाकर दलित, महिलाओं और आदिवासियों को जो अधिकार दिए हैं, वे उन अधिकारों को छीनना चाहते हैं ! इसी रवैये के कारण लोग उन्हें हर जगह खारिज कर रहे हैं ! गुपकार गैंग वैश्विक हो रहा है !

इयम् समूह जम्मू-कश्मीरे विदेशिन् शक्तिनां प्रवेशं इच्छति ! इयम् समूह भारतीय त्रिवर्णस्य अपि अपकारं करोति ! अहम् पृच्छन् इच्छामि तत का सोनिया महोदया राहुल महोदयः च् गुपकार समूहस्य इति वार्तानां समर्थनम् कुरुतः ? सोनिया राहुल महोदयम् च् देशस्य सम्मुखम् स्व मतम् स्पष्टम् करणीय ?

यह गैंग जम्मू-कश्मीर में विदेशी ताकतों का दखल चाहता है ! यह गैंग भारतीय तिरंगे का भी अपमान करता है ! मैं पूछना चाहता हूँ कि क्या सोनिया जी और राहुल जी गुपकार गैंग की इन बातों का समर्थन करते हैं ? सोनिया और राहुल जी को देश के सामने अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए ?

गृहमंत्री: अकथयत् जम्मू कश्मीर च् भारतस्य अभिन्न अंशमासीत्,अस्ति अग्रमपि च् रहिष्यति ! राष्ट्रीय हितस्य विरुद्धम् कश्चितमपि अपवित्र गठबंधनं देशस्य जनाः स्वीकार न करिष्यन्ति ! गुपकार समूह देशस्य भावनानां अनूकूलेन कार्यम् करोतु न तर्हि जनाः तेन अपकृष्यते !

गृह मंत्री ने कहा जम्मू और कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा था, है और आगे भी रहेगा ! राष्ट्रीय हित के खिलाफ किसी भी अपवित्र गठबंधन को देश के लोग बर्दाश्त नहीं करेंगे ! गुपकार गैंग देश की भावनाओं के हिसाब से काम करे नहीं तो लोग उसे डुबा देंगे !

गृहमंत्रीस्य इति प्रकारस्य कथनेन उद्विज्य पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती बहु ट्वीत कृत्वा अकथयत् तत भाजपा गुपकार समूहे सम्मिलितं दलानि राष्ट्र विरोधिन् भांति प्रस्तुत करोति ! सः अत्रैव आरोपम् आरोपयत् तत भाजपा स्वयं तर्हि सत्तायाः बुभुक्षिते कश्चितेनपि गठबंधनं क्रियते !

गृहमंत्री के इस प्रकार के बयान से बौखलाई पीडीपी अध्‍यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कई ट्वीट करके कहा कि बीजेपी गुपकार अलायंस में शामिल दलों को राष्‍ट्र विरोधी की तरह पेश कर रही है ! उन्‍होंने यहां तक आरोप लगाया कि बीजेपी खुद तो सत्‍ता की भूख में किसी से भी गठबंधन कर लेती है !

तु यदि कश्चित अन्य गठबंधनं निर्मायति तर्हि तेन इति प्रकारम् प्रस्तुत क्रियेत्,यथा सः राष्ट्र हितम् चिनोतिम् ददाति ! सा इयम् आरोपमपि आरोपयत् तत भाजपा स्वयं प्रत्येक दिवसं संविधानस्य त्रोट त्रोट करोति ! पुरातन क्रियाकलापानि कठिनताया गच्छति !

लेकिन अगर कोई अन्‍य गठबंधन बनाता है तो उसे इस तरह पेश किया जाता है, जैसे वह राष्‍ट्रहित को चुनौती दे रहा हो ! उन्‍होंने यह आरोप भी लगाया कि बीजेपी खुद हर दिन संविधान की धज्जियां उड़ाती है ! पुरानी आदतें मुश्किल से जाती हैं !

पूर्व भाजपाम् इयम् कथनं दत्तवान तत त्रोटम् त्रोटम् समूहेनस्य सम्प्रभुताम् संकटमस्ति सम्प्रति च् ते वयं राष्ट्रविरोधिन् रूपे प्रस्तुत कृताय गुपकार गैंग इति शब्दस्य प्रयोगम् करोति ! भाजपा स्वयं दिवस-रात्रि संविधानस्य हास्य निर्मयति !

पहले बीजेपी ने यह नैरेटिव दिया कि टुकडे़ टुकडे़ गैंग से की संप्रभुता को खतरा है और अब वे हमें राष्ट्र विरोधी के रूप में पेश करने के लिए गुपकार गैंग शब्‍द का इस्‍तेमाल कर रहे हैं ! बीजेपी खुद दिन-रात संविधान का माखौल बनाती है !

स्वयमम् रक्षक: स्व राजनीतिक विरोधिनि च् आंतरिक काल्पनिकम् च् शत्रुणा रूपे प्रस्तुत्वा भारतं विभाजितस्य भाजपाया: रणनीति सम्प्रति पुरातन अभव्यते ! बर्ध्यति बेरोजगारीम् महंगाई इत्यस्य स्थानम् लव जिहाद इति,त्रोटम् त्रोटम् सम्प्रति च् गुपकार समूहे राजनीतिक चर्चाम् भवति !

खुद को रक्षक और अपने राजनीतिक विरोधियों को आंतरिक और काल्पनिक शत्रुओं के रूप में पेश कर भारत को विभाजित करने की बीजेपी की रणनीति अब बासी हो गई है ! बढ़ती बेरोजगारी और महंगाई की जगह लव जिहाद, टुकड़े टुकड़े और अब गुपकार गैंग पर राजनीतिक चर्चा होती है !

उद्विज्यतस्य कारणम् !

बौखलाहट का कारण !

जम्मू-कश्मीरे इति मासस्य अन्ते डीडीसी इत्यस्य निर्वाचनम् भवेयम् ! इति निर्वाचनम् युद्धाय नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी इत्येन सह जम्मू-कश्मीरस्य क्षेत्रीय दलानि गुपकार अलायंस इति नामेन गठबंधनं अनिर्मयत् ! कांग्रेसमपि इति गठबंधनस्य अंशमस्ति !

जम्मू-कश्मीर में इस महीने के अंत में डीडीसी के चुनाव होने हैं ! इस चुनाव को लड़ने के लिए नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी सहित जम्मू-कश्मीर की क्षेत्रीय पार्टियों ने गुपकार अलायंस नाम से गठबंधन बनाया है ! कांग्रेस भी इस गठबंधन का हिस्सा है !

पूर्व वर्षम् पंच दिनांकम् एनसी इति प्रमुखः फारूक अब्दुल्लायाः गुपकार मार्ग स्थित आवासे एकम् सभाम् अभवत् स्म ! इति सभायाम् जम्मू-कश्मीरस्य राजनीते चर्चाम् अभवत् स्म ! अस्य उपरांत सर्वाणि स्थानीय नेता तीक्ष्ण परिचर्या मध्य अभवत् ! तीक्ष्ण परिचर्या मध्यात् मुक्तिस्य उपरांत एतानि नेतारः येन गुपकार अलायंस इति नामम् दत्तवान !

पिछले साल पांच अगस्त को एनसी प्रमुख फारूक अब्दुल्ला के गुपकार रोड स्थित आवास पर एक बैठक हुई थी ! इस बैठक में जम्मू-कश्मीर की राजनीति पर चर्चा हुई थी ! इसके बाद सभी स्थानीय नेता नजरबंद हो गए ! नजरबंदी से रिहाई के बाद इन नेताओं ने इसे गुपकार अलायंस नाम दिया है !

साधु कथनं:-

खरी बात :-

अमित शाहस्य कथनं राष्ट्रहिते !

अमित शाह का बयान राष्ट्रहित में !

अत्र उल्लेखनीयमस्ति तत गुपकार समूहस्य नेता सततं देश विरोधिन् कथनं ददन्ति ! ११ अक्टूबर इतम् यत्र नेशनल कॉन्फ्रेंस इत्यस्य नेता फारूक अब्दुल्ला: यत्र चिनस्य सहयोगेन जम्मू-कश्मीरे अनुच्छेद ३७० इत्यस्य पुनेन स्थापितस्य वार्ता कथमासीत् !

यहां उल्‍लेखनीय है कि गुपकार अलायंस के नेता लगातार देश विरोधी बयान दे रहे हैं ! 11 अक्टूबर को जहां नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने जहां चीन की मदद से जम्मू-कश्मीर में अनुच्‍छेद 370 की फिर से बहाली की बात कही थी !

तत्रैव २३ अक्टूबर इतम् महबूबा मुफ्ती अकथयत् स्म तत सा कश्मीरस्य ध्वजस्य अभावम् त्रिवर्णम् न उत्थाष्यते ! गुपकार समूहस्य नेतॄणाम् इति कथनानि राष्ट्रम् चिनोतिस्य रूपम् पश्येत् ! इति कारणेन अमित शाहस्य कथनं राष्ट्रहिते अस्ति !

वहीं 23 अक्टूबर को महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि वह कश्मीर के झंडे के बगैर तिरंगा नहीं उठाएंगी ! गुपकार अलायंस के नेताओं के इन बयानों को राष्ट्र को चुनौती की तरह देखा जा रहा है ! इस वजह से अमित शाह का बयान राष्ट्रहित में है !

Disclaimer The author is solely responsible for the views expressed in this article. The author carry the responsibility for citing and/or licensing of images utilized within the text. The opinions, facts and any media content in them are presented solely by the authors, and neither Trunicle.com nor its partners assume any responsibility for them. Please contact us in case of abuse at Trunicle[At]gmail.com

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article