33.1 C
New Delhi

ब्राह्मणस्य नामे उत्तर प्रदेशे असाधु राजनीतिम् ! ब्राह्मण के नाम पर उत्तर प्रदेश में घटिया सियासत !

Date:

Share post:

कर्णपुरस्य बिकरू ग्रामे सी ओ सह अष्ट सुरक्षा कर्मीनाम् हनस्य मुख्य अभियुक्तम् विकास दूबेसि मुठभेड़स्य उपरांत: कतिपय राजनीतिक दलम् अस्य ब्राह्मण कोणम् दात्तुम् पर्यत्नशीलम् अस्ति ! अस्य दिशायाम् अग्रे बर्धनम् सर्वात् प्रथम दलम् बहुजन समाज दलम् अस्ति ! विकास दूबेसि आरक्षकम् मुठभेड़े हतनम् उपरांत मायावती १२ जुलाईतः एकम् बचनम् मुक्तत्वा प्रदेशस्य योगी सरकारे अपरोक्ष रूपेण ब्राह्मणानि प्रताड़ित कृतस्य आरोप अरोपयत् स्म !

कानपुर के बिकरू गांव में सी ओ समेत आठ पुलिस कर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद से कई राजनीतिक दल इसे ब्राह्मण एंगल देने में जुटे हैं ! इस दिशा में आगे बढ़ने वाली सबसे पहली पार्टी बहुजन समाज पार्टी है ! विकास दुबे के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने के बाद मायावती ने 12 जुलाई को एक बयान जारी कर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर अपरोक्ष रूप से ब्राह्मणों को प्रताड़ि‍त करने का आरोप लगाया था !

साभार गूगल

मायावती योगी सरकारे प्रहारम् कुर्वाण: अकथयत् तत प्रदेश सरकार इदानीं केचन न करोतु येभ्यः ब्राह्मण समाजम् अतंकितम् भीतम् असुरक्षितम् च् मा बेत्तन्तु ! २००७ विधानसभा निर्वाचने मायावती ब्राह्मण मतदातानां कारनैव प्रदेशे पूर्ण बहुमतस्य सर्कारम् निर्मिते सफलम् रहेत् स्म ! तत्र विकास दूबेसि मुठभेड़स्य उपरांतेन केचन जनाः येन ब्राह्मण विरोधिन् कोणाम् ददान्ति ! इदृशे बसपा प्रमुख ब्राह्मणानि अनुरक्तस्य कतिपय अवसरम् न परित्यक्तम् इच्छेत् !

मायावती ने योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा था कि प्रदेश सरकार ऐसा कुछ ना करे जिससे ब्राह्मण समाज आतंकित‍, भयभीत और असुरक्षित महसूस करें ! 2007 विधानसभा चुनाव में मायावती ब्राह्मण वोटों के चलते ही प्रदेश में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में सफल रही थी ! वहीं विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद से कुछ लोग इसे ब्राह्मण विरोधी एंगल दे रहे हैं ! ऐसे में बसपा प्रमुख ब्राह्मणों को रिझाने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहतीं !

साभार गूगल

कांग्रेसम् समाजवादी दलमपि भाजपे निर्दोष ब्राह्मणानि प्रताड़ितम् कृतस्य आरोपम् अरोपयत् स्म यस्य उपरांत सर्कारस्य त्रय ब्राह्मण मंत्री डॉ दिनेश शर्मा:, बृजेश पाठक: सतीश द्विवेदी: च् मुद्रणयंत्रम् साक्षात्कारम् कृत विपक्षे उत्तरम् अददात् स्म !

कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने भी बीजेपी पर निर्दोष ब्राह्मणों को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था,जिसके बाद सरकार के तीन ब्राह्मण मंत्री डॉ दिनेश शर्मा, ब्रजेश पाठक और सतीश द्विवेदी ने प्रेस कांफ्रेंस कर विपक्ष को उत्तर दिया था !

साभार गूगल

कांग्रेस नेतृ पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद: च् भाजपास्य सख्त ब्राह्मण मतदाता समूहे मतदाता आकर्षनाय ब्राह्मण चेतना संवादस्य प्रारम्भम् अकरोत् !

कांग्रेस नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने बीजेपी के मजबूत ब्राह्मण वोट बैंक पर सेंधमारी करने के लिए ब्राह्मण चेतना संवाद की शुरुआत भी की है !

सपास्य एकम् कुहुकम् युक्ति च् !

सपा का एक और पैंतरा !

साभार गूगल

अयोध्यायम् राम मंदिर निर्माणस्य प्रारम्भम् २०२२ तमस्य यू पी निर्वाचनस्य कारणेन भाजपाय वृद्धिम् मान्यन्ते ! इदृशे प्रदेशस्य अन्य विपक्षीम् दलानि अद्येन निर्वाचनम् रणनीति निर्माणम् प्रारम्भयते ! समाजवादी दलम् ब्राह्मणानि आकर्षनाय प्रशुरामस्य सर्वात् उच्चै: मूर्ति स्थापने विचार्यति ! अयम् मूर्ति लक्ष्मणनगरे स्थापष्यति, वस्तुतः स्थानम् अद्यापि अंवेषण्यते ! मूर्तिस्य उच्चै: १०८ फीट इति भविष्यति !

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की शुरुआत 2022 के यू पी चुनाव के लिहाज से बीजेपी के लिए बढ़त मानी जा रही है ! ऐसे में प्रदेश की अन्य विपक्षी पार्टियों ने अभी से चुनावी रणनीति बनानी शुरू कर दी है ! समाजवादी पार्टी ब्राह्मणों को लुभाने के लिए परशुराम की सबसे ऊंची मूर्ति लगाने पर विचार कर रही है ! यह मूर्ति लखनऊ में लगाएगी, हालांकि जगह अभी ढूंढ़ी जा रही है ! मूर्ति की ऊंचाई 108 फीट होगी !

अस्य राजनीतिस्य परिणामम् ?

इस राजनीति का परिणाम ?

यत्र भाजपा सर्वे धर्माणि एकीकृत कृतस्य प्रयासम् करोति, तत्र विरोधिन् दलानि असाधु राजनीतिस्य प्रति बर्ध्यन्ति, सम्प्रति ब्राह्मणम् सतर्कस्य आवश्यक्ताम् अस्ति कुत्रचित प्रथमम् देशम् पुनः अवशेषम् ! ब्राह्मणम् कश्चित हिन्दू धर्मस्य अन्यत्रम् न सन्ति अद्य ५०० वर्षाणि उपरांत राम मंदिर निर्माण्यते इयम् केवलं हिन्दूनाम् एकीकृतस्य प्रमाणम् अस्ति !

जहां भाजपा सभी धर्मों को एकजुट करने का प्रयास कर रही है, वहीं विरोधी पार्टियां घटिया राजनीति की ओर बढ़ रही हैं अब ब्राह्मण को सतर्क रहने की आवश्यकता है क्योंकि पहले देश फिर अवशेष ! ब्राह्मण कोई हिन्दू धर्म से अलग नहीं हैं आज 500 वर्षों बाद राम मंदिर बनने जा रहा है यह केवल हिंदुओं की एकजुटता का प्रमाण है !

सम्प्रति अन्य दलानि राममन्दिरस्य उपरांत प्रतीतं भव्यते तत तेषां राजनीति सम्प्रति न चलिष्यति, तर्हि ते पुनः तत्र अंगलकः नीति चलन्ति, निपतेन राज्यम् कुरु, मुस्लिमानि हस्तयो गृहित्वा, हिन्दुषु निपतम् कदा यादव:, कदा क्षत्रिय:, कदा दलितं, कदा ओबीसी इत्यादि अद्य इते दलानाम् अक्षणे ब्राह्मणम् सन्ति तानि लुभ्यम् दत्वा त्रोटयतु पुनः सत्ताम् प्राप्तम् करोतु, विशेष धर्मस्य जनानां सेवां ! सतर्कम् भव अन्यथा प्रथमम् यथा स्थितिम् पुनः भविष्यति, हिन्दू बनित्वा देशहिते विचार्यन्तु !

अब अन्य पार्टियों को राममंदिर के बाद प्रतीत होने लगा है कि उनकी सियासत अब नहीं चलेगी, तो वह सब पुनः वही अंग्रेजों वाली चाल चल रहे हैं फूट डालो राज्य करो, मुस्लिमों को हाथ में रखकर, हिंदुओं में फूट डालो कभी यादव, कभी क्षत्रिय, कभी दलित, कभी ओबीसी आदि आज इन पार्टियों के निशाने पर ब्राह्मण हैं उनको लालच देकर तोड़ो फिर सत्ता हासिल करो, पुनः अपनी मनमानी पुराने तरीके से करो, विशेष धर्म के लोगों की सेवा ! सतर्क हो जाओ अन्यथा पहले जैसा हाल फिर हो जाएगा, हिन्दू बनकर देश हित में सोंचो !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

After India, now Sri Lanka and Bangladesh called Canada a ‘Hub of Terrorism’

Amid the ongoing diplomatic standoff between India and Canada over the killing of Khalistani terrorist Hardeep Singh Nijjar,...

Modi Govt is ‘weaponizing global anti-terror fund’ to crack down on civil society groups, claims Amnesty International

If someone asked us about the top-10 works of Modi government, then we will certainly talk about the...

Rupali was allegedly killed by her husband Iqbal Mohammad.

In Mumbai, a Muslim youth murdered his Hindu wife by slitting her throat. Initial investigation revealed that the...