29.1 C
New Delhi

सम्प्रति आगतवान उष्ट्र पर्वतस्य निच्चे, जम्मू – कश्मीर कन्दुक संघ गोलमाले अपाशयत् फारूक अब्दुल्ला: ! अब आया ऊंट पहाड़ के नीचे,जम्मू-कश्मीर क्रिकेट संघ घोटाले में फंसे फारूक अब्दुल्ला !

Date:

Share post:

नेशनल कॉन्फ्रेंस इत्यस्य नेता जम्मू कश्मीरस्य च् पूर्व मुख्यमंत्री: उमर अब्दुल्लास्य संकटानि बर्धशक्नोति ! जम्मू-कश्मीर क्रिकेट संघ गोलमाले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) सोमवासरम् पृच्छाय फारुकम् स्व कार्यालये आहूतवान !

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता एवं जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की मुश्किलें बढ़ सकती हैं ! जम्मू-कश्मीर क्रिकेट संघ घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को पूछताछ के लिए फारूक को अपने दफ्तर में तलब किया !

जेकेसीए गोलमालस्य इयम् प्रकरण २०१२ तमे सम्मुखम् आगतवान ! वर्ष २००५ तः २०१२ तमस्य मध्य जेकेसीए इत्यस्य बैंक अकाउंट इत्यात् धनस्य गोलमाल कृतस्य आरोपमस्ति ! तत् कालम् फारूक: जेकेसीए इत्यस्य अध्यक्षमासीत् !

जेकेसीए घोटाले का यह मामला 2012 में सामने आया ! साल 2005 से 2012 के बीच जेकेसीए के बैंक अकाउंट से धन की हेराफेरी करने का आरोप है ! उस समय फारूक जेकेसीए के अध्यक्ष थे।

जेकेसीए इत्यस्य कोषाध्यक्ष: मंजूर वजीर: मार्च २०१२ तमे संस्थाया: महासचिव: मोहम्मद सलीम खान: पूर्व कोषाध्यक्ष: अहसान मिर्जाया: विरुद्धम् धनस्य गोलमालस्य अधिक्षेपम् पंजीकृतं अकारयत् स्म !  अस्य उपरांत भ्रष्टाचारस्य इयम् प्रकरणम् सम्मुखम् आगतवान ! अस्य केचन दिवसानि उपरांत गोलमालेन संलग्नम् कथित ५० जनानां एकम् अनुक्रमणिका सार्वजनिकम् अभवत् स्म !

जेकेसीए के कोषाध्यक्ष मंजूर वजीर ने मार्च 2012 में संस्था के महासचिव मोहम्मद सलीम खान और पूर्व कोषाध्यक्ष अहसान मिर्जा के खिलाफ धन की हेराफेरी की शिकायत दर्ज कराई थी ! इसके बाद भ्रष्टाचार का यह मामला सामने आया ! इसके कुछ दिनों बाद घोटाले से जुड़े कथित 50 लोगों की एक सूची सार्वजनिक हुई थी !

भ्रष्टाचारस्य प्रकरणम् उद्घाटयस्य उपरांत जेकेसीए इत्यस्य अध्यक्ष पदात् फारूक अब्दुल्लाम् स्थानापन्नयते स्म ! इति पदे सः त्रय दशकातधिकम् कालैव अस्थियते ! गोलमाल प्रकरणे ईडी फारूकेन पूर्वेपि पृच्छन्नम् अक्रियते ! प्रकरणे कार्यवाहिम् कृतः ईडी २.६ कोटि रूप्यकस्य सम्पत्तिम् अधिगृह्यते स्म !

भ्रष्टाचार का मामला उजागर होने के बाद जेकेसीए के अध्यक्ष पद से फारूक अब्दुल्ला को हटना पड़ा था ! इस पद पर वह तीन दशक से ज्यादा समय तक रहे ! घोटाला मामले में ईडी फारूक से पहले भी पूछताछ कर चुका है ! मामले में कार्रवाई करते हुए ईडी ने 2.6 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की थी !

सूचनानां अनुरूपम् ईडी इत्यस्य अन्वेषणे इयम् सम्मुखम् आगतवान तत वित्तीय वर्षम् २००५ – २००६ तमेन गृहित्वा २०११ – २०१२ तमेव जेकेसीए इतम् बीसीसीआई इत्यात् त्रय बैंक अकाउंट इत्ये ९४.०५ कोटि रूप्यकानि अप्राप्यत् ! ईडी इत्यस्य आरोपमस्ति, जेकेसीए इत्यस्य नामे बहु अन्य अकाउंट इति उद्घट्यते इति अकाउंट इत्येषु धनम् अप्रेषयत् ! इत्येव प्रकारस्य द्वितीयकम् बैंक अकाउंट इत्यस्य प्रयोगम् धनम् परिवर्तनाय प्रयोगम् अक्रियते !

रिपोर्टों के मुताबिक ईडी की जांच में यह सामने आया है कि वित्तीय वर्ष 2005-2006 से लेकर 2011-2012 तक जेकेसीए को बीसीसीआई से तीन बैंक अकाउंट में 94.06 करोड़ रुपए मिले !  ईडी का आरोप है, जेकेसीए के नाम पर कई अन्य खाते खोले गए और इन खातों में रकम भेजी गई ! इसी तरह के दूसरे बैंक अकाउंट्स का इस्तेमाल मनी लॉन्डरिंग के लिए इस्तेमाल किया गया !

ईडी इतम् प्रति पृच्छाय आहुतै उमर अब्दुला: इत्येन ‘विरोधस्य कार्यवाहिम्’ इति अकथयत् ! स्व एकम् ट्विते उमर: अकथयत् ईडी इत्यस्य इति आहूतपत्रे दलम् शीघ्रेव उत्तरम् दाष्यति ! गुपकार घोषणापत्राय गठबंधनम् निर्मयस्य उपरांत इयम् केचन न च् अपितु राजनीतिक विरोधस्य कार्यवाहिमस्ति !

ईडी की ओर से पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर उमर अब्दुल्ला ने इसे ‘बदले की कार्रवाई’ कहा है ! अपने एक ट्वीट में उमर ने कहा ईडी के इस समन पर पार्टी जल्द ही जवाब देगी ! गुपकार घोषणापत्र के लिए गठबंधन बनाए जाने के बाद यह कुछ और नहीं बल्कि राजनीतिक बदले की कार्रवाई है !

पीडीपी इति प्रमुख महबूबा मुफ्तिस्य बाह्य आगमनस्य उपरांत राज्ये राजनीतिक प्रकरण तीव्रम् अभवत् ! पूर्व सप्त दिवसं पीडीपी,एनसी इत्येन सह कश्मीरस्य क्षेत्रीय दलानि एकम् सभाम् अकुर्वन् राज्ये च् अनुच्छेद ३७० इत्यस्य पुनर्स्थापिताय स्व एकम् गठबंधनं अनिर्मयत् !

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती के बाहर आने के बाद राज्य में सियासी हलचल तेज हुई है ! पिछले सप्ताह पीडीपी, एनसी सहित कश्मीर के क्षेत्रीय दलों ने एक बैठक की और राज्य में अनुच्छेद 370 की बहाली के लिए अपना एक गठबंधन बनाया !

वस्तुतः ४ अगस्त २०१९ तमम् पीडीपी,एनसी इत्येन सह ६ प्रमुख दलानि सम्मिलित्वा अगस्त २०१९ तमे एकम् कार्यवाहिम् निर्माणम् अकरोत् स्म ! इत्येन गुपकार अभियानम् अकथ्यते ! अस्य उद्देश्यम् जम्मू कश्मीर च् राज्यस्य विशेष स्थानम् अनुच्छेद ३५ ए च् अनुच्छेद ३७० इतम् च् रक्षणम् राज्यस्य च् विभाजनस्य अवरोधनम् स्म !

दरअसल चार अगस्त 2019 को पीडीपी, एनसी सहित 6 प्रमुख पार्टियों ने मिलकर अगस्त 2019 में एक मुहिम तैयार की थी ! इसे गुपकार अभियान कहा गया ! इसका उद्देश्य जम्मू और कश्मीर राज्य के विशेष दर्जे और अनुच्छेद 35 ए और अनुच्छेद 370 को बचाना और राज्य के विभाजन को रोकना था !

इत्यात् पूर्वम् तत इयम् दलम् स्व इति कार्यवाहिम् अग्र बर्ध्यति तत सा दृष्टिअवरोधम् अक्रियते ! बन्दीया मुक्तम् भवस्य उपरांत इयम् सर्वाणि दलम् एकदा पुनः स्व राजनीतिक भूमि अन्वेषणाय सक्रियम् अभवत् !

इससे पहले कि ये दल अपनी इस मुहिम को आगे बढ़ा पाते कि इन्हें नजरबंद कर दिया गया ! हिरासत से रिहाई हो जाने के बाद ये सभी दल एक बार फिर अपनी राजनीतिक जमीन तलाशने के लिए सक्रिय हो गए हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

PM Modi’s visit to Russia – Why West is so Worried and Disappointed?

The event of Russian President Vladimir Putin giving royal treatment to Prime Minister Narendra Modi during his two...

An open letter to Rahul Gandhi from an Armed Forces veteran

Mr Rahul Gandhi ji, Heartiest Congratulations on assuming the post of Leader of the Opposition in Parliament (LOP). This...

Shocking Win for Left Wing – What Lies ahead for France?

France's far-right National Rally was widely expected to win this snap election, but instead they were beaten into...

Kolkata Mayor TMC Leader Firhad Hakim Gives Open Call to convert People to Islam; BJP slams ‘Appeasement Politics’

The Mayor of Kolkata Firhad Hakim stirred a massive controversy after he openly called people to convert to...