16 C
New Delhi
Friday, March 5, 2021

AUTHOR NAME

A K Shahi

7 POSTS
0 COMMENTS

छठ का पर्व और सनातन की अखंड ज्योत।

ये रौशनी, ये दीप ज्योतियाँ देख रहे हो विधर्मियों? यह रौशनी हमारी आस्था की वह रौशनी है, जिसमे तुम्हारे सारे कुतर्क जल जाते हैं! यह रौशनी...

मगध सभ्यता और छठ के महापर्व का महत्व.

"कांच ही बांस के बहंगियां….बहंगी लचकत जाए!" यह गाना,केवल एक गाना मात्र नहीं है! यह आदिकाल के मगध साम्राज्य से लेकर वर्तमान काल तक के...

हिंदवी स्वराज्: कोंडाजी फ़र्ज़न्द ने केवल 60 मावलों के साथ किस तरह पन्हाला किला पर भगवा लहराया

सन 1673…रायगढ़ दुर्ग, महाराष्ट्र! यह वह समय था जब सदियों से भारत भूमि पर व्याप्त अत्याचारी मुगल शासन को एक मराठा शूरवीर राजा ने...

सनातन धर्म की परंपरा में दीपावली का महत्व।

दीपोत्सव यह रौशनी देख रहे हैं आप? यह रौशनी मात्र दियों की नहीं है! यह रौशनी किसी धर्म की भी नहीं है! यह रौशनी संसार की...

छत्रपति शिवाजी महाराज की वीर गाथा , अफजल खान वध।

अफजल वध "क्या इस दरबार में कोई ऐसा है जो उस काफिर शिवाजी को नेस्तनाबूत करके इस बीजापुरी सल्तनत को महफूज कर सके?" बीजापुर के दिवंगत...

हिंदवी स्वराज के वीर योद्धा: शिवा से छत्रपति शिवाजी महाराज का सफर।

भारत! सोने की चिड़िया! पर यह सोने की चिड़िया आदिकाल से ही पड़ोसियों और शत्रुओं की लालच भरी नजरों में बसी रही! तमाम लुटेरे...

द फर्स्ट #सर्जिकल#स्ट्राइक : छत्रपति शिवाजी महाराज की वीर गाथा।

अफजल खाँ का वध करने के बाद आदिलशाह द्वितीय ने सिद्दी जौहर के नेतृत्व में शिवाजी को समाप्त करने के उद्देश्य से 20 हजार...

Latest news